प्यार का इजहार करने के लिए शायरी

प्यार का इजहार करने के लिए शायरी का जब इस्तेमाल किया जाता है तो बड़ा ही दिलचस्प होता है। प्यार का इजहार कई तरीके से किया जाता है। जैसे – पत्र लिखकर, मोबाइल पर सन्देश भेजकर, गिफ्ट या उपहार देकर आदि। प्यार का इजहार करने वाली शायरी सुनाकर भी इसे रोमांचक बनाया जाता है। इसीलिए प्यार का इजहार करने की शायरी मौहब्बत में अपना खास स्थान रखती है।

सुबह से शाम होती है, दिल गुलजार होते हैं।
कली से फूल खिलते हैं, भँवरों के दिन चार होते हैं।।
शब्र कितना करें इसकी भी हद होती है,
इसीलिए हम प्यार का इजहार करते हैं।।

नजर मिला, करीब आ, तुझसे प्यार कर लूँ मैं।
जो दिल में बात है उसका इजहार कर लूँ मैं।।

फूल मुस्कुराते हैं तुझे देखकर।
हवा रुख बदलती है तुझे देखकर।।
यूँ तो काफी दीवाने परेशान हैं,
एक मैं हूँ जो, जीता हूँ तुझे देखकर।।

करके प्यार तुमने मेरा हौंसला बढ़ा दिया।
छोटे से चिराग को सूरज बना दिया।।

किसे सुनाऊँ तुम्हें छोड़ के अपने दिल की बात।
नहीं करूँगा और किसी से जन्म – जन्म का साथ।।

1 प्रतिक्रिया

संपर्क में रहें
     
नई पोस्ट ईमेल पर पाएँ